रमज़ान में फलो पर क्यों आई महगाई... अफज़ल खाँन पत्रकार

रमज़ान में फलो पर क्यों आई महगाई... अफज़ल खाँन पत्रकार


फोटो 



बदायूँ । रमज़ान मुबारक माह के पहले ही दिन फलो की महगाई ने आसमान छूना शुरू कर दिया । शहर में फलो के ठेले भी बहुत कम नज़र आये। रोजा इफ्तार करने के लियें फल खरीदने से पहले लोगो को बहुत सोचना पड़ गया ।
शहर में रमज़ान के पहले दिन शनिवार को शहर मे सब्जी और फलो के बहुत कम ठेले मौहल्लों में घूमते हुये दिखाई दिये । लाँकडाउन की वजह से घर से बाहर निकलने पर तो पाबंदी है। घर के दरबाजो पर बिक रही खानेपीने की चीज ही खरीदी जा सकती है। कि बजह से लोगो ने रोज़ा इफ्तार करने के लियें जब फलो की खरीदारी करना चाहा तो फलो के दाम सुनते ही दंग रह गये । दंग होने की तो बात है भी हर  फल रमजान मुबारक महीने से पहले बिकने बाले भाव से बहुत महगा बेचा जा रहा था। जैसे रमज़ान से अंगूर 25-30 रुपये किलो था जो आज 40 से 60 रुपये किलो तरबूज 15-20 की जगह 25-30 रुपये पपीता 30-35 की जगह 50 से 60 रुपये किलो खरबूजा 45 से 60 रुपये किलो केला 20-25 की जगह 50 से 60 रुपये दर्जन । 
लोगो को दुख इस बात बहुत है कि बडिया खजूर तो देखने को ही नहीं मिली ठेले पर बिक रही बेकार बाली खजूर जो पिछले साल रमज़ान में 50-60 रुपये किलो बिकती थी वह घटिया बाली खजूर 180 से 200 रुपये किलो तक में बिक रही थी । रमज़ान के महीने में फलो पर आई महगाई का लोगो को बहुत दुख है। लोगो का कहना है कि प्रशासन का इस पर ध्यान देना जरूरी है।


Popular posts
पूर्व जिलाध्यक्ष हेमेंद्र गौतम को मिला वरेली मण्डल मुख्य सेक्टर प्रभारी का पार्टी में दायित्व,
Image
कानपुर मुठभेड़ में शहीद हुए पुलिस के वीर जवानों को सपाईयों ने भावभीनी श्रद्धांजलि की अर्पित
Image
डॉ राकेश प्रजापति (प्रदेश सचिव समाजवादी पिछड़ा वर्ग) के आवास पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का जन्मदिन शालीनतापूर्वक मनाया गया
Image
प्रशासनिक उदासीनता और सम्वन्धित विभाग की लापरवाही के कारण नमूना वनकर रह गया है इंडिया मार्का हैंडपम्प|-रिपोर्ट शिबेन्द्र यादव बिनावर
Image
*जिला पंचायत सदस्य ममता शाक्य के निर्देशानुसार आज चन्द्र शेखर उर्फ टिंकू शाक्य ने पर्यावरण दिवस मनाया*
Image