मुख्यमंत्री के आदेशों को ठेंगा दिखाती प्रशासनिक व्यवस्था।

मुख्यमंत्री के आदेशों को ठेंगा दिखाती प्रशासनिक व्यवस्था।


रमजान के महीने में परेशान है जनता।
रिपोर्टर शकील बख्शी अलापुर बदायूँ 



अलापुर  बदायूँ । सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने रमज़ान से पहले आदेश दिया था कि रमज़ान में लोगों को किसी भी चीज को लेकर परेशानी न हो । उन्होंने कहा था कि प्रशासन रोज़ादारों के लिए जरूरत का सामान उपलब्ध कराये और ओवर रेट पर भी अंकुश लगाये । लेकिन जिले भर का प्रशासन खासकर कस्बा अलापुर  का नगर पंचायत प्रशासन हो या दातागंज तहसील या जिला प्रशासन सब कोई मुख्यमंत्री के इस आदेश को ठेंगा दिखाता दिखाई दे रहा है। 


रमज़ान शुरू हो चुके हैं और प्रशासन अभी तक लोगों को सुविधा मुहैया कराने में असमर्थ है । बता दें कुछ दिन पहले एडीएम ने जिले के सभी पासों को तत्काल प्रभाव से निरस्त किये जाने का आदेश जारी किया था । उसके बाद से आज तक कोई नया पास जारी नहीं किया गया है (शहर के कुछ पास को छोड़कर) । वहीं जिले के सभी कस्बों की बात करें तो यहाँ जनता दूध, सब्जी, नाश्ते का सामान और किराने का सामान न मिलने से बेहद परेशान है।


खासकर अलापुर  नगर पंचायत में तो हर कोई अपनी जिम्मेदारी से भागते दिखाई देता है। यहाँ के अधिकारी लॉकडाउन में परेशान लोगों का फोन तक रिसीव करने की जरूरत नहीं समझते । इस संबंध में जब एडीएम वि/रा से बात की गई तो उन्होंने यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि मैं देखता हूँ ।उधर अलापुर  के अधिशासी अधिकारी राजीव कुमार  ने बताया कि आज शाम तक गृह मंत्रालय की गाइड लाइन जारी होने की उम्मीद है। जिसके बाद रमज़ान को लेकर कोरोना मुक्त कस्बों में दुकानें खुलने की उम्मीद है


 


अलापुर  बदायूँ । सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने रमज़ान से पहले आदेश दिया था कि रमज़ान में लोगों को किसी भी चीज को लेकर परेशानी न हो । उन्होंने कहा था कि प्रशासन रोज़ादारों के लिए जरूरत का सामान उपलब्ध कराये और ओवर रेट पर भी अंकुश लगाये । लेकिन जिले भर का प्रशासन खासकर कस्बा अलापुर  का नगर पंचायत प्रशासन हो या दातागंज तहसील या जिला प्रशासन सब कोई मुख्यमंत्री के इस आदेश को ठेंगा दिखाता दिखाई दे रहा है। 


रमज़ान शुरू हो चुके हैं और प्रशासन अभी तक लोगों को सुविधा मुहैया कराने में असमर्थ है । बता दें कुछ दिन पहले एडीएम ने जिले के सभी पासों को तत्काल प्रभाव से निरस्त किये जाने का आदेश जारी किया था । उसके बाद से आज तक कोई नया पास जारी नहीं किया गया है (शहर के कुछ पास को छोड़कर) । वहीं जिले के सभी कस्बों की बात करें तो यहाँ जनता दूध, सब्जी, नाश्ते का सामान और किराने का सामान न मिलने से बेहद परेशान है।


खासकर अलापुर  नगर पंचायत में तो हर कोई अपनी जिम्मेदारी से भागते दिखाई देता है। यहाँ के अधिकारी लॉकडाउन में परेशान लोगों का फोन तक रिसीव करने की जरूरत नहीं समझते । इस संबंध में जब एडीएम वि/रा से बात की गई तो उन्होंने यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि मैं देखता हूँ ।उधर अलापुर  के अधिशासी अधिकारी राजीव कुमार  ने बताया कि आज शाम तक गृह मंत्रालय की गाइड लाइन जारी होने की उम्मीद है। जिसके बाद रमज़ान को लेकर कोरोना मुक्त कस्बों में दुकानें खुलने की उम्मीद है



अलापुर  बदायूँ । सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने रमज़ान से पहले आदेश दिया था कि रमज़ान में लोगों को किसी भी चीज को लेकर परेशानी न हो । उन्होंने कहा था कि प्रशासन रोज़ादारों के लिए जरूरत का सामान उपलब्ध कराये और ओवर रेट पर भी अंकुश लगाये । लेकिन जिले भर का प्रशासन खासकर कस्बा अलापुर  का नगर पंचायत प्रशासन हो या दातागंज तहसील या जिला प्रशासन सब कोई मुख्यमंत्री के इस आदेश को ठेंगा दिखाता दिखाई दे रहा है। 


रमज़ान शुरू हो चुके हैं और प्रशासन अभी तक लोगों को सुविधा मुहैया कराने में असमर्थ है । बता दें कुछ दिन पहले एडीएम ने जिले के सभी पासों को तत्काल प्रभाव से निरस्त किये जाने का आदेश जारी किया था । उसके बाद से आज तक कोई नया पास जारी नहीं किया गया है (शहर के कुछ पास को छोड़कर) । वहीं जिले के सभी कस्बों की बात करें तो यहाँ जनता दूध, सब्जी, नाश्ते का सामान और किराने का सामान न मिलने से बेहद परेशान है।


खासकर अलापुर  नगर पंचायत में तो हर कोई अपनी जिम्मेदारी से भागते दिखाई देता है। यहाँ के अधिकारी लॉकडाउन में परेशान लोगों का फोन तक रिसीव करने की जरूरत नहीं समझते । इस संबंध में जब एडीएम वि/रा से बात की गई तो उन्होंने यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि मैं देखता हूँ ।उधर अलापुर  के अधिशासी अधिकारी राजीव कुमार  ने बताया कि आज शाम तक गृह मंत्रालय की गाइड लाइन जारी होने की उम्मीद है। जिसके बाद रमज़ान को लेकर कोरोना मुक्त कस्बों में दुकानें खुलने की उम्मीद है


अलापुर  बदायूँ । सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने रमज़ान से पहले आदेश दिया था कि रमज़ान में लोगों को किसी भी चीज को लेकर परेशानी न हो । उन्होंने कहा था कि प्रशासन रोज़ादारों के लिए जरूरत का सामान उपलब्ध कराये और ओवर रेट पर भी अंकुश लगाये । लेकिन जिले भर का प्रशासन खासकर कस्बा अलापुर  का नगर पंचायत प्रशासन हो या दातागंज तहसील या जिला प्रशासन सब कोई मुख्यमंत्री के इस आदेश को ठेंगा दिखाता दिखाई दे रहा है। 


रमज़ान शुरू हो चुके हैं और प्रशासन अभी तक लोगों को सुविधा मुहैया कराने में असमर्थ है । बता दें कुछ दिन पहले एडीएम ने जिले के सभी पासों को तत्काल प्रभाव से निरस्त किये जाने का आदेश जारी किया था । उसके बाद से आज तक कोई नया पास जारी नहीं किया गया है (शहर के कुछ पास को छोड़कर) । वहीं जिले के सभी कस्बों की बात करें तो यहाँ जनता दूध, सब्जी, नाश्ते का सामान और किराने का सामान न मिलने से बेहद परेशान है।


खासकर अलापुर  नगर पंचायत में तो हर कोई अपनी जिम्मेदारी से भागते दिखाई देता है। यहाँ के अधिकारी लॉकडाउन में परेशान लोगों का फोन तक रिसीव करने की जरूरत नहीं समझते । इस संबंध में जब एडीएम वि/रा से बात की गई तो उन्होंने यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि मैं देखता हूँ ।उधर अलापुर  के अधिशासी अधिकारी राजीव कुमार  ने बताया कि आज शाम तक गृह मंत्रालय की गाइड लाइन जारी होने की उम्मीद है। जिसके बाद रमज़ान को लेकर कोरोना मुक्त कस्बों में दुकानें खुलने की उम्मीद है


Popular posts
पूर्व जिलाध्यक्ष हेमेंद्र गौतम को मिला वरेली मण्डल मुख्य सेक्टर प्रभारी का पार्टी में दायित्व,
Image
कानपुर मुठभेड़ में शहीद हुए पुलिस के वीर जवानों को सपाईयों ने भावभीनी श्रद्धांजलि की अर्पित
Image
डॉ राकेश प्रजापति (प्रदेश सचिव समाजवादी पिछड़ा वर्ग) के आवास पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का जन्मदिन शालीनतापूर्वक मनाया गया
Image
प्रशासनिक उदासीनता और सम्वन्धित विभाग की लापरवाही के कारण नमूना वनकर रह गया है इंडिया मार्का हैंडपम्प|-रिपोर्ट शिबेन्द्र यादव बिनावर
Image
*जिला पंचायत सदस्य ममता शाक्य के निर्देशानुसार आज चन्द्र शेखर उर्फ टिंकू शाक्य ने पर्यावरण दिवस मनाया*
Image