लाँकडाउन के चलते घर में भी कांधे से कांधा नहीं मिलाते नमाज़ी 

लाँकडाउन के चलते घर में भी कांधे से कांधा नहीं मिलाते नमाज़ी 


अफज़ल खाँन .पत्रकार


बदायूँ । रमज़ान मुबारक महीना बडे ही रहमतों और बरकतों का बाला मुबारक महीना माना जाता है। मगर देश में फैली कोरोना महामारी की वजह से लाँकडाउन की स्थिति में लोगो को घरों मे ही रहने की पाबंदी लगा दी गई है।  मस्जिदें भी पूरी तरह बंद हैं।  मस्जिदों  से बस पांचों टाइम आज़ान की आवाज़े ही आती हैं। लोगो में मस्जिदों में नमाज़ नहीं होने का बड़ा अफसोस है। लोग अपने-अपने घरों में रहकर  अल्लाह की इवादते कर रहे हैं। मगर लोगो में तराहबी और जुमें की नमाजें  जमात के साथ मस्जिदों में नहीं पडने का बहुत अफ़सोस है। 
रमज़ान मुबारक माह के महीने में लोग  रोजे रखकर अपने-अपने घरो में ही अल्लाह की इवादतों में मस्त दिखाई दे रहे हैं। कोई कुरआन शरीफ की तिलावत करता दिखाई दे रहा है तो कोई नमाज़ अदा करता दिखाई देता है। मुस्लिम घर की महिलाएं तो इवादतों के बाद इफ्तार के पकवान बनाने में मस्त हो जाती हैं। और बच्चे भी महिलाओं के साथ इफ्तार के पकवानों में मस्त रहते है। 
लाँकडाउन की स्थिति में अपने घरों में ही कैद लोग 15 घंटे रोजे का टाइम काटने के बाद इफ्तार की रस्म अदा कर अल्लाह से कोरोना के खातमें की दुआएं मागते है।  लोगो का मानना है कि रोज़दार की दुआएं अल्लाह की वारगाह में जरुर कुबूल होंगी रमजान मुबारक माह के रोजों की बरकत से कोरोना महामारी का खातमा जरूर और जल्दी हो जायेगा ।


Popular posts
पूर्व जिलाध्यक्ष हेमेंद्र गौतम को मिला वरेली मण्डल मुख्य सेक्टर प्रभारी का पार्टी में दायित्व,
Image
कानपुर मुठभेड़ में शहीद हुए पुलिस के वीर जवानों को सपाईयों ने भावभीनी श्रद्धांजलि की अर्पित
Image
डॉ राकेश प्रजापति (प्रदेश सचिव समाजवादी पिछड़ा वर्ग) के आवास पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का जन्मदिन शालीनतापूर्वक मनाया गया
Image
प्रशासनिक उदासीनता और सम्वन्धित विभाग की लापरवाही के कारण नमूना वनकर रह गया है इंडिया मार्का हैंडपम्प|-रिपोर्ट शिबेन्द्र यादव बिनावर
Image
*जिला पंचायत सदस्य ममता शाक्य के निर्देशानुसार आज चन्द्र शेखर उर्फ टिंकू शाक्य ने पर्यावरण दिवस मनाया*
Image